गुरुवार, 24 मार्च 2016

धूप बनके वो मुझमे समाते रहे .....


होली की रंगभरी शुभकामनाएं !!!

 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

 बर्फ के कितने तूफान आते रहे
 धूप बनके वो मुझमे समाते रहे ।

 चाँद पूनम से तुम चमचमाते  रहे
 चाँदनी में तेरी हम नहाते रहे ।

 दिल्ली
 🌹🌹🌹🌹🌹🌹

कोई टिप्पणी नहीं: